Balakot

सुन ले ऐ पाकिस्तान, लंका को जलाने वाले थे सिर्फ़ एक पवन पुत्र हनुमान,  वक़्त बदल गया है और इस देश का जज़्बा भी,  अब हर सिपाही राम है और हर एक हिंदुस्तानी है हनुमान, जो आँच आयी किसी भी राम पर तो कर लेना ख़ुद ये अनुमान, लंका सोने  की थी और तू है एक कूडे के ढेर समान ||